दर्द शायरी - शराबी शायरी - हिंदी शायरी



दर्द शायरी - शराबी शायरी - हिंदी शायरी

=====> शमशान में शराब <=====

बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे
शमशान में पिया करूंगा,
जब खुदा मांगेगा हिसाब
तो पैग बना के दिया करूंगा.


=====> पी के रात को <=====

पी के रात को हम उनको भुलाने लगे !
शराब मे ग़म को मिलाने लगे !!
ये शराब भी बेवफा निकली यारो !!!
नशे मे तो वो और भी याद आने लगे !!!!


=====> अगर तू… <=====

मे तोड़ लेता अगर तू गुलाब होती
मे जवाब बनता अगर तू सबाल होती
सब जानते है मैं नशा नही करता,
मगर में भी पी लेता अगर तू शराब होती!



A


0 comments:

Post a Comment

 
Top